एबीबी में के मेन गेट पर कर्मचारी व रिश्तेदारों का मैनेजमेंट के खिलाफ प्रदर्शन

0
42

Faridabad News, 03 Jan 2020 : हार्डवेयर चौक फरीदाबाद स्थित विश्व की प्रसिद्व मोटर निर्माता कंपनी एबीबी में पिछले लगभग 28 वर्षो से अनुबंध के आधार पर काम करने वाले एक कर्मचारी की घर जाते समय ह्रदय गति रूकने से मौत हो गई। कर्मचारी का नाम धर्मपाल था और वह पेमोड़ गांव तहसील होडल जिला पलवल का रहने वाला था। कर्मचारी का आज जिले के नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया इसके उपरांत कंपनी के अन्य कर्मचारी व रिश्तेदार उसके शव को लेकर कंपनी के मेन गेट पर पहुंच गए और मैनेजमेंट के खिलाफ रोष प्रकट करने लगे। मौके पर पुलिस पहुंच गई और पुलिस अधिकारी सुदीप सिंह को मृतक के रिश्तेदार और कंपनी के ही पूर्व प्रधान सालीग्राम ने बताया कि कपंनी द्वारा किए जा रहे शोषण के कारण ही धर्मपाल की जान गई है क्योकि पिछले वर्षो से काम करने के बावजूद उसे पक्का नहीं किया था। उन्होनें बताया कि 5 साल पहले तक कंपनी में 137 कर्मचारी अनुबंध के आधार पर काम कर रहे थे जिसमें से कई 15 वर्षो से काम कर रहा था तो कोई 25 और कईयों को तो 30 वर्ष से भी ऊपर हो गए थे। मैनेजमेंट ने आश्वासन दिया था कि हर वर्ष 15 कर्मचारी पक्के किए जाएगें। लेकिन केवल 6-7 ही लेते थे और वो भी वहीं जो मैनेजमेंट के करीबी और चापलूसी करते थे। उन्होनें बताया कि बीते दिनों भी कंपनी में इंटरव्यू लिया था जिसमें धर्मपाल को पता चला था कि उसका लेटर बन गया है और उसे बुला लिया जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ इस वजह से वह बहुत परेशान था। उसने घर और अपने साथ काम करने वाले दोस्तों को भी बताया था। सालीग्राम ने बताया कि एबीबी मैनेजमेंट कच्चे कर्मचारियों का पूरी तरह से शोषण करती है। यह कर्मचारियों पर तरह तरह का दबाव बनाते है। उन्हें गेट के बाहर खड़ा कर देते है और दबाव बनाने के लिए इधर उधर ट्रॉसफर करती है। सालीग्राम और मृतक के साथ काम करने वाले कर्मचारियों ने मैनेजमेंट से मांग की कि धर्मपाल के घर से किसी एक को नौकरी पर लिया जाए क्योकि वह घर में अकेला कमाने वाला था और कंपनी के अन्य कर्मचारी जोकि अनुबंध के आधार पर काम कर रहे है उनको भी अतिशीघ्र पक्का किया जाए। मैनेजमेंट ने पुलिस की मौजूदगी में आश्वासन दिया कि कर्मचारियों की मागों पर जल्दी ही कारवाई की जाएगी और कर्मचारियों के हितों में फैसला लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here