पाराशर ने बांटी 500 वकीलों को लॉ डायरी

0
446

Faridabad News, 20 Dec 2018 : बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के प्रधान एल एन पराशर ने गुरुवार शहर के लगभग 500 वकीलों को लॉ डायरी का वितरण किया। वकील पाराशर ने अपने चैंबर में पांचवीं बार पुस्तक वितरण का आयोजन किया। इसके पहले इसी साल वो चार बार वकीलों को कानून से सम्बंधित पुस्तकें वितरित कर चुके हैं। गुरुवार बांटी गई लॉ डायरी में 17 एक्ट की जानकारी दी गई है। वकील  पाराशर ने बताया कि गुरुवार का पुस्तक वितरण कार्यक्रम युवा वकीलों के लिए था लेकिन जितने सीनियर वकील पुस्तक लेने पहुंचे, सबकों पुस्तकें दी गईं। उन्होंने बताया कि इस किताब से युवा वकीलों को कोर्ट में काफी फायदा मिलेगा क्यू कि इस किताब में  आईपीसी, सीआरपीसी, सीपीसी। लॉ आफ एविडेंस, कोर्ट फीस एक्ट, लिमिटेशन ऐक्ट, ट्रिब्यूनल्स एक्ट, स्टेट बार काउंसिल एक्ट सहित कुल 17 ऐक्ट की जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि वो चाहते हैं कि युवा वकीलों को हर तरह की जानकारी हो ताकि वो अच्छी तरह से प्रैक्टिस कर सकें और लोगों को न्याय दिला सकें।

वकील पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद की अदालत में तमाम ऐसे युवा वकील प्रैक्टिस कर रहे हैं जो बहुत गरीब परिवार से हैं। ऐसे वकीलों की मदद के लिए उनकी संस्था न्यायिक सुधार संघर्ष समिति हर तरह का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि आगे भी मैं उनकी मदद करता रहूंगा। वकील पाराशर ने कहा कि शहर के अधिकांश युवा वकीलों के पास बैठने के लिए चैंबर नहीं है। उन्होंने कहा कि जिन वकीलों के पास चैंबर नहीं है वो हर मौसम में बहुत परेशानी झेलते हैं इसलिए मेरा प्रयास रहेगा कि मैं इस वकीलों के लिए जल्द से जल्द सरकार से चैंबर की जगह पास करवा चैंबर बनवा सकूं।

इस मौके पर बार एसोशिएशन के अध्यक्ष बॉबी रावत ने वकील पाराशर की तारीफ़ करते हुए कहा कि वकील एल एन पाराशर ने कोर्ट में समाजसेवाओं को नया आयाम दिया है और वो हर किसी का ख़याल रखते हैं और हर जरूरतमंद की मदद करते हैं। बॉबी रावत ने कहा कि हमारा पूरा प्रयास रहता है कि कोर्ट में वकीलों को किसी भी तरह की समस्या न झेलनी पड़े। इस मौके पर एडवोकेट लोकेश पाराशर, एडवोकेट सचिन तंवर, एडवोकेट हितेश पाराशर, एडवोकेट कुलदीप, ओम दत्त, एडवोकेट दीपिका शर्मा, कंवर कमल, एडवोकेट विश्वेन्द्र अत्री, एडवोकेट रंजना शर्मा आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here