वन लाइफ -रोड सेफ्टी, प्रतियोगिताएं आयोजित और रैली निकली

0
36

Faridabad news, 07 Aug 2019 : जिला एवम् सत्र न्यायधीश तथा चेयरमैन, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्री दीपक गुप्ता, के दिशा निर्देशनमें चीफ जुडिशियल मजिस्ट्रेट व डलसा फरीदाबाद की सचिव श्रीमती मोना सिंह के मुख्य आतिथ्य में राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा में प्राचार्या श्रीमती नीलम कौशिक की अध्यक्षता में वन लाइफ- सड़क सुरक्षा विषय पर पेंटिंग, निबंध, सलोगन लिखो प्रतियोगिताओं तथा जागरूकता रैली का आयोजन कानूनी सेवा प्रकोष्ठ, जूनियर रेड क्रॉस तथा सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड द्वारा किया गया। वन लाइफ रोड सेफ्टी के तहत प्रतियोगिताओं का संयोजन करते हुए विद्यालय के इंग्लिश प्रवक्ता व कानूनी सेवा प्रकोष्ठ प्रभारी रविन्दर कुमार मनचन्दा ने बताया कि डलसा के आदेशानुसार विभिन्न कार्यक्रमों व रैली में 150 से भी अधिक छात्राओं व छात्रों ने प्रतिभागिता की जबकि 100 से भी ज्यादा छात्राओं व प्राध्यापकों की जागरूकता रैली को मुख्य अतिथि चीफ जुडिशियल मजिस्ट्रेट व डलसा फरीदाबाद की सचिव श्रीमति मोना सिंह और प्राचार्या नीलम कौशिक ने हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। सी जे एम मोना सिंह ने इस से पूर्व कहा कि पता नहीं – कब, कौन, कहां और कैसे सड़क हादसे का शिकार हो जाए। पर क्यों इसपर गंभीरता से सोचने की जरूरत है। क्योंकि सड़क सुरक्षा एक वैज्ञानिक सच है और हम भी सड़क हादसों पर काफी हद तक काबू पा सकते हैं। क्योंकि आज के हालात में तो कोई भी सुरक्षित नहीं है। हमारे देश में हर व्यक्ति के पास सड़क हादसे की एक कहानी है। न तो इससे आम लोग बचे हैं और ना ही खास। अभी सड़क दुर्धटना की वार्षिक संख्या है 5,05,423, ये अपने आप में विशाल चुनौती है लेकिन इन दुर्घटनाओं को कम करना बिल्कुल भी असंभव नहीं। अंग्रेजी प्रवक्ता रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि क्योंकि हम और दुनिया के विकसित देश जीरो विजन पर काम कर रहे हैं यानि सड़क हादसे में किसी की मौत ना हो। सड़कों पर निरंतर बढ़ रहे वाहनों के कारण और सड़क सुरक्षा के नियमों की अनदेखी करने की वजह से सड़क दुर्घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है, और हर वर्ष लगभग डेढ़ लाख व्यक्ति सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु के मुँह में समा जाते है। एक अध्ययन के अनुसार सड़क दुर्घटनाओं का सब से बड़ा कारण सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन न करना है, कितने ही लोग चाहे वे वयस्क हों या युवा बगैर लाइसेंस के वाहन चलाते है, वाहनों में तय यात्रियों से अधिक यात्री बैठाना यानी ओवरलोडिंग, द्विपहिया वाहन चालकों द्वारा हेलमेट का प्रयोग ना करना, दो से अधिक सवारियों का द्विपहिया वाहन पर बैठना, कार चलाते समय सीट बेल्ट का प्रयोग न करना अप्रशिक्षित व्यक्तियों द्वारा वाहन चलाना और व्यावसायिक वाहनों का ओवरलोड होना बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं के प्रमुख कारण है। रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि बच्चों ने ” डोंट ड्राइव ड्रंक”, ” बैटर लेट देन नेवर”, सुरक्षित चले- सामान्य चलें”, ” लेन ड्राइविंग – सेन ड्राइविंग ” तथा ” जैसे नारे लिखी पट्टिकाओ को लेकर तथा गाते हुए सराय ख्वाजा की मुख्य बाजार व कालोनी में आम लोगों को जागरूक किया। रैली का नेतृत्व पैनल एडवोकेट रविन्द्र गुप्ता, रविन्द्र कुमार मनचन्दा, प्रीति, मोनिका व रविकांत ने किया। प्राचार्या श्रीमती नीलम कौशिक, रविन्द्र गुप्ता पैनल एडवोकेट, जे आर सी व एस जे ए बी प्रभारी रविन्दर कुमार मनचन्दा, ट्रैफिक ताऊ श्री वीरेन्द्र सिंह, रेनु शर्मा, शारदा बिश्नोई, वेदवती, संजय यादव, सहित अन्य अध्यापकों ने बच्चों की प्रशंसा करते हुए सड़क सुरक्षा के नियमों के अनुपालन करने के लिए उत्साहवर्धन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here