नगरपालिका कर्मचारियों ने किया विरोध प्रदर्शन

0
194

Faridabad News, 30 June 2020 : नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के आह्वान पर आज लगातार दूसरे दिन भी फरीदाबाद के कर्मचारी सामूहिक अवकाश लेकर हड़ताल पर रहे हड़ताली कर्मचारी सुबह ही बीके चौक स्थित नगर निगम मुख्यालय में एकत्रित होना शुरू हो गए और नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के जिला वरिष्ठ उपप्रधान श्रीनन्द ढकोलिया की अध्यक्षता में विशाल विरोध सभा का आयोजन किया। इस सभा में विशेष तौर पर नगर पालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री उपस्थित रहे। विरोध प्रदर्शन के बाद कर्मचारियों ने हाथों में झाडू लेकर सडक़ों पर उतरकर हरियाणा सरकार की वादाखिलाफी तानाशाही छंटनी एवं निजीकरण व 25 अप्रैल के समझौते को लागू करने तथा 16 सूत्रीय मांगों को मनवाने के लिए नगर निगम मुख्यालय से नीलम चौक तक जोरदार विशाल प्रदर्शन किया।

कर्मचारियों को संबोधित करते हुए नगर पालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने कहा कि सरकार हठधर्मिता छोड़ बातचीत के माध्यम से पालिका कर्मचारियों की मांगों का समाधान करें। श्री शास्त्री ने कहा कि जब तक शहरी स्थानीय निकाय मंत्री द्वारा संघ के साथ 25 अप्रैल को हुए समझौते के अनुसार मानी गई मांगों कोरोना से मौत होने पर 50 लाख रूपए का विशेष आर्थिक सहायता राशि देने व कर्मचारी के आश्रित को नौकरी देने, 4 हजार जोखिम भत्ता देने, सफाई व सीवर के कार्य को राष्ट्रीय श्रम घोषित करने तथा इन कर्मचारियों को तृतीय श्रेणी का स्केल देने, मेन पावर, वर्कआउटसोर्स, डोर टू डोर ओ. एंड.एम. तथा अन्य सभी प्रकार के ठेकों को समाप्त कर सफाई कर्मचारियों सीवर मैनो एवं चतुर्थ व तृतीय श्रेणी के कर्मचारियों को विभाग के रोल पर रखने, 12500 सफाई कर्मचारी, 1000 सीवर मैनो की भर्ती करने, 122 जूनियर इंजीनियर की छंटनी पर रोक लगाने, 1046 फायर ऑपरेटरों की भर्ती रद्द कर 1366 फायर मैनो व फायर ड्राइवरों को 2268 फायर ऑपरेटरों के पदों पर समायोजित कर पक्का करने, छंटनी किए गए सफाई कर्मचारियों, सीवर मैनो, फायर कर्मचारियों को ड्यूटी पर वापस लेने, बंद पड़े दमकल केंद्रों को चालू करने, क्षेत्रफल आबादी के अनुपात में कार्य की अधिकता को ध्यान में रखते हुए सभी श्रेणियों के नए पद सर्जित करने, विभाग के रोल पर लगे कर्मचारियों को समान काम समान वेतन देने तथा अन्य मांगों का निवारण सरकार जब तक नहीं करेगी तब तक पालिका कर्मचारियों का आंदोलन जारी रहेगा। यदि सरकार ने फिर भी समाधान नहीं किया तो संघ हड़ताल को अनिश्चितकालीन हड़ताल में बदलने के लिए मजबूर होगा। उन्होंने प्रदेश के सभी पालिका, परिषद, निगम तथा दमकल केंद्रों के कर्मचारियों से 3 जुलाई को छंटनी, निजीकरण, महंगाई व अन्य कर्मचारियों की मांगों को लेकर किए जाने वाले राष्ट्रीय विरोध प्रदर्शन एवं मांग दिवस के कार्यक्रमों में बढ़ चढक़र भाग लेने की भी अपील की है।
नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के जिला सचिव नानक चंद खैरालिया, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलबीर सिंह बालगुहेर, सैनिटेशन स्टाफ यूनियन के प्रधान राजेंद्र सिंह दहिया, ड्राइवर यूनियन के प्रधान राम किशोर त्यागी व वेद भड़ाना, सीवर मेन यूनियन के सचिव विनोद ने सरकार पर सफाई कर्मचारी एवं दलित विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में प्रदेश के सफाई कर्मचारियों की भूमिका सराहनीय है। लेकिन सरकार ने प्रदेश के सफाई कर्मचारियों को मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स, पीपी किट आदि सुरक्षा उपकरण उपलब्ध नहीं करवाए हैं, कोरोना महामारी की आड़ में सरकार कर्मचारियों पर आर्थिक एवं नीति गत हमले कर रही है। संघ नेताओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सरकार ने 5 जुलाई तक मांगों का समाधान नहीं किया तो 6 जुलाई से शुरू होने वाली तीन दिवसीय हड़ताल को संघ अनिश्चितकालीन हड़ताल में परिवर्तित कर देगा।

आज के इस सामूहिक अवकाश एवं प्रदर्शन में अन्य के अलावा कर्मी नेता बल्लू चिंडालिया, नरेश भगवाना प्रेमपाल, राजवीर चिंडालिया, रघुवीर चौटाला, जितेंद्र छाबड़ा, महेंद्र कुडिय़ा, डांसिंग, विजय चावला, दर्शन सिंह सोया, राकेश चिंडालिया, सुदेश कुमार, महिला नेता माया, शकुंतला, कमला, ललिता आदि भी शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here