सांसद महेश गिरी ने अपने क्षेत्रीय विकास कोष से निगम को दिए 2 करोड़ रूपये

0
875

New Delhi News, 06 Dec 2018 : भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री व पूर्वी दिल्ली से सांसद महेश गिरी ने अपने क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले पूर्वी दिल्ली नगर निगम को अपनी सांसद निधि से 2 करोड़ रूपये की राशि का आवंटन किया है। उन्होंने बताया कि इस राशि से निगम 100 ई-रिक्शा खरीदेगा व घर-घर जा कर इससे कूड़ा करकट का संग्रहण किया जाएगा। वर्तमान में पूर्वी दिल्ली नगर निगम द्वारा ठेके पर ट्रिपर व कर्मचारियों को इस्तेमाल में लाया जाता है तथा यह तंग गलियों में भी नही जा सकता। इस कारण मैंने यह सुझाव दिया कि ई रिक्शा का प्रयोग किया जाए तो तंग गलियों से भी कूड़ा उठाया जा सकेगा साथ ही नगर निगम में वर्तमान कर्मचारी भी इसको चला सकेंगे।

सांसद गिरी ने बताया कि वर्तमान में दिल्ली सरकार की असंवेदनशीलता के कारण तीनों निगम खराब वित्तीय स्थिति से जूझ रहा है। जिसमेें पूर्वी दिल्ली नगर निगम की स्थिति सबसे खराब है। पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों को सबसे ज्यादा प्रभावित होना पड़ रहा है। साथ इसके क्षेत्र में सफाई व्यवस्था भी चरमरा गई है। सभी को विदित होगा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महात्मा गांधी के जन्मदिन के अवसर पर स्वच्छ भारत अभियान का आरम्भ किया। क्योंकि स्वच्छता का कोई विकल्प नही है, अपितु यह एक आवश्यकता है।

सांसद ने बताया कि अपने संसदीय क्षेत्र पूर्वी दिल्ली को अपूर्व बनाने के लिए अनेको प्रयास किए है। मैंने स्वयं व्यक्तिगत रूप से पूर्वी दिल्ली के दसों विधानसभाओं में स्वच्छता अभियान समय-समय पर चलाया है। स्वच्छ भारत मिशन में शौचालयों का विशेष महत्व है और इसी महत्व को ध्यान में रखते हुए पटपड़गंज, आनन्द विहार, लक्ष्मी नगर, कृष्णा नगर, कोंडली, त्रिलोकपुरी, विश्वास नगर, मयूर विहार आदि कई क्षेत्र में कई जनसुविधा परिसर व शौचालयों का निर्माण करवाया जा चुका है। सभी ढ़लाव घरों की सफाई, तिकोना पार्क ज्वाला नगर में कूड़ा-करकट की सफाई एवं स्थानीय निवासियों की मांग पर कई ऐसे छोटे बड़े जगहों पर सफाई का कार्य सम्पन्न कराया गया। मेरे द्वारा पूर्वी दिल्ली में स्थित कई पार्कों की सफाई एवं उसे व्यवस्थित कर उसके सौन्दर्यीकरण के कार्य भी सम्पन्न कराए गए। इसी स्वच्छता अभियान के प्रक्रम को जारी रखते हुए मंडावली से प्रीत विहार रेलवे लाईन के दोनो तरफ जहां कूड़ा-करकट का ढ़ेर लगा रहता था, मेैंने रेल मंत्रालय में हस्तक्षेप कर दोनो तरफ दीवार का निर्माण शुरू करवाया और उस जगह को प्रदूषण मुक्त करवाने की पहल भी की है।

महेश गिरी ने बताया कि यह मेरी दृढ़ मान्यता है कि जब तक वैचारिक क्रांति नहीं आयेगी तब तक भारत स्वच्छ नही बनेगा और वो क्रांति सिर्फ सरकार नहीं बल्कि समाज, संतों और सरकार को मिलकर लानी होगी। सासंद न बताया कि इसी स्वच्छ व सुंदर वातावरण नागरिकों को उपलब्ध हो, इसी प्रयास के अन्तर्गत पूर्वी दिल्ली नगर निगम को 2 करोड़ रूपये का आवंटन किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here