3000 से अधिक उम्मीदवारों ने नारनौल में आयोजित कौशल भारत रोजग़ार मेले में हिस्सा लिया

0
128

Narnaul News, 01 March 2019 : नौकरी ढूंढने वाले हज़ारों उम्मीदवारों ने गवर्नमेन्ट आईटीआई (बॉयज़), नारनौल, हरियाणा में आयोजित कौशल भारत रोजग़ार मेला में हिस्सा लिया। राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा आयोजित इस रोजग़ार मेले में युवाओं को भावी नियोक्ताओं से मिलने और सीधे बातचीत करने का अवसर मिला। शहर के सबसे बड़े नौकरी मेलों में से एक इस रोजग़ार मेले को बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली। तकरीबन 41 कोरपोरेट्स, 3000 से अधिक कुशल उम्मीदवारों ने मेले में हिस्सा लिया। रोजग़ार मेले में 1490 से अधिक उम्मीदवारों को नौकरी दी गई। श्रीमति सुधा यादव, राष्ट्रीय सचिव, भारतीय जनता पार्टी उद्घाटन समारोह में मौजूद थीं।

कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के तत्वावधान में राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा आयोजित कौशल भारत के रोजग़ार मेले ने नौकरी ढूंढने वाले युवाओं को भावी नियोक्ताओं से जोडऩे में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, उन्हें उद्यमिता सहित रोजग़ार के अवसरों के बारे में जानने का मौका मिला। मेले ने संगठनों को ऐसा मंच प्रदान किया, जहां नियोक्ताओं को भावी कर्मचारियों से मिलने का मौका मिला। मेले ने उम्मीदवारों को रोजग़ार के साथ उद्यमिता एवं एप्रेन्टिसशिप के अवसर भी प्रदान किए। मेले में हिस्सा लेने वाले अग्रणी सगठनों में हैवल्स, फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, टाटा मोटर्स और नव भारत शामिल थे। चुने गए उम्मीदवारों को सेल्स एक्ज़क्टिव, वेयरहाउस एक्ज़क्टिव, रीटेल टेऊेनी एसोसिएट, कस्टमर सर्विस और सेल्स ऑफिसर के जॉब रोल्स के लिए चुना गया। रोजग़ार मेले में कुशल उम्मीदवारों को नियोक्ताओं, एचआर प्रबंधकों, भर्ती अधिकारियों, प्रशिक्षण प्रदाताओं से मिलने का अवसर मिला।
इस मौके पर श्रीमति सुधा यादव ने कहा, ”हम हरियाणा के युवाओं को रोजग़ार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं। विभिन्न शहरों में एनएसडीसी द्वारा आयोजित रोजग़ार मेलों ने हज़ारों युवाओं को नियोक्ताओं के साथ जोडऩे में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। युवाओं को अपनी पसंद की नौकरी पाने के लिए कौशल पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए। सरकार युवाओं को कौशल एवं प्रशिक्षण के साथ सशक्त बनाने के लिए प्रयासरत है, ताकि वे अपने जीवन में सफलता हासिल कर सकें।

माननीय प्रधानमंत्री जी के कौशल भारत दृष्टिकोण के अनुरूप राष्ट्रीय कौशल विकास निगम कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के तत्वावधान में विभिन्न हितधारकों जैसे उद्योग, संस्थानों, प्रशिक्षण प्रदाताओं के साथ साझेदारी में रोजग़ार मेलों, कौशल मेलों, स्किल साथी आदि का आयोजन कर रही है जिसके माध्यम से युवाओं को नौकरी प्रदाताओं के साथ जोड़ा जा रहा है।

कौशल भारत मिशन को सशक्त बनाते हुए एनएसडीसी कई निजी एवं सरकारी कौशल प्रशिक्षण योजनाओं एवं पहलों का संचालन भी कर रही है जैसे प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना और प्रधानमंत्री कौशल केन्द्र। इस तरह की योजनाएं स्कूल/कॉलेज छोड़ चुके युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान कर उन्हें नौकरी के लिए तैयार करती हैं। अब तक 25 लाख उम्मीदवारों को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत प्रमाणपत्र दिए जा चुके हैं और लगभग 10 लाख उम्मीदवारों को नौकरियों या स्व-रोजग़ार के द्वारा सक्षम बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here