64वें महापरिनिर्वाण दिवस पर भीम राव अम्बेडकर चौक पर सभा का आयोजन

0
178

Faridabad News, 06 De 2019 : संविधान के शिल्पकार भारत रत्न बाबा साहब डा. भीमराव अम्बेडकर के 64वें महापरिनिर्वाण दिवस पर एनआईटी स्थित साहब साहब भीम राव अम्बेडकर चौक पर सभा का आयोजन किया गया। सभा के आयोजन से पूर्व दलित नेता नरेश कुमार शास्त्री के नेतृत्व में दलित समुदाय के लोगों ने बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्र्यापण किया। सभा की अध्यक्षता संयुक्त रूप से नगर निगम सफाई कर्मचारी यूनियन प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, दलित नेता मनोज, बीर सिंह नम्बरदार, दिनेश नरवाना ने की।

सभा को सम्बोधित करते हुए दलित नेता एवं नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने कहा कि भारत रत्न बाबा साहब डा. भीम राव अम्बेडकर ने दो साल 11 माह 18 दिन के अथक परिश्रम से भारतीय संविधान का निर्माण कर देश की जनता को समर्पित किया। भारतीय संविधान दुनिया का सर्वश्रेष्ठ संविधान है, लेकिन देश की सत्ताधारी लोगों ने अपने हिसाब से संविधान का प्रयोग कर समाज के विभिन्न वर्गों का शोषण किया।

श्री शास्त्री ने कहा कि देश की 70 साल की आजादी के बाद भी आरक्षण को पूर्ण रूप से लागू नहीं किया गया है। वहीं भारत सरकार की बड़ी कम्पनियों को प्राईवेट हाथों में देकर आरक्षण को समाप्त किया जा रहा है। आरक्षण की समीक्षा के लिए समीक्षा आयोग का गठन करने की मांग मंच के माध्यम से की।

दलित अधिकार मंच द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर चौक का सौन्दर्यीकरण करने तथा पार्क में लगे बिजली के खम्बों व मोबाइल टावर तथा जनरेटर को हटाने के अलावा बीके चौक का नाम भगवान बाल्मीकि चौक रखने की मांग भी की गई। मंच द्वारा प्रशासन को चेतावनी दी गई है कि 15 दिनों के अंदर बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर चौक का सौन्दर्यीकरण करने, अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो पूरे जिले में दलित समाज के लोग आन्दोलन करेगें।

इस अवसर पर अन्य के अलावा मायावती दबंग, गुलाब सिंह, दलित सिंह चिण्डालिया, गुरूचरण सिंह खाण्डिया, ब्रह्म सिंह, बल्लू चिण्डालिया, रमेश गौतम, नरेश भगवाना, शौराज सिंह, सुभाष फेटमार, श्रीनंद ढकोलिया, लीले खलीफा, महेन्द्र सिंह कुण्डिया, दर्शन सिंह सोया, श्रीपाल, विशाल पारछा, सोनू सोया, ब्रजवती, कमला, बीना, ललिता, निशा गौतम सहित सैकड़ों की संख्या में दलित समाज के लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here