कोविड-19 महामारी के बीच महर्षि आयुर्वेद ने आयुर डिफेंस–एवी लांच किया

0
35

New Delhi, 11 Sep 2020 : विज्ञान आधारित अग्रणी आयुर्वेदिक कंपनियों में से एक महर्षि आयुर्वेद ने कोविड-19 महामारी के बीच आज अपने सौ प्रतिशत आयुर्वेदिक उत्पाद आयुर डिफेंस–एवी के लांच के साथ अपने आयुर्वेदिक स्वास्थ्य सेवा पोर्टफोलियो के विस्तार की घोषणा की है। यह पूरी तरह से एक हर्बल उत्पाद है, जो 19 जड़ी-बूटियों के संयोजन/मिश्रण से बना है। इसमें वायरल संक्रमण और मौसमी फ्लु के विरूद्ध कवच की तरह सुरक्षा प्रदान करने के कार्यात्मक गुण हैं। इसमें शरीर की जन्मजात बुद्धि को बढ़ाने के गुण हैं, जो प्रतिरक्षा को मजबूत करने के लिए अधिक जीवन शक्ति, आंतरिक शक्ति स्थिरता और संतुलन के लिए क्रमिक रूप से कार्य करता है।

अपने नये उत्पाद के लांच की घोषणा करते हुए महर्षि आयुर्वेद के अध्यक्ष श्री आनंद श्रीवास्तव ने कहा, “कोविड-19 महामारी की स्थिति को देखते हुए, हम संक्रमण के युग से गुजर रहे हैं जिसमें इससे खुद की सुरक्षा करना जीवित रहने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। ऐसी स्थिति में, वायरल संक्रमण को ठीक करने के लिए दवाओं की अनुपलब्धता को पहचानना और इस तथ्य को महसूस करना सबसे पहले जरूरी है कि पूरी आबादी संक्रमित नहीं होती है। जबकि जो लोग संक्रमित होते हैं, उनमें से अधिकांश में इसकी पुनरावृत्ति हो जाती है, कुछ को छोड़कर जो इस दौर से निकल जाते हैं, हमने इस उत्पाद को लांच किया है जो समय की आवश्यकता है।”

श्री आनंद श्रीवास्तव ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा, “इस उत्पाद को बाजार में लाना आधुनिक सुविधाजनक स्वरूपों में आयुर्वेद के पुराने ज्ञान के आधार पर उत्पादों को निर्मित करने और लोगों के लिए उपलब्ध कराने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाना है। हम हमेशा आयुर्वेद के पारंपरिक ज्ञान और आधुनिक विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी के मेल से सभी के लिए सुरक्षित, प्रभावी और सस्ते स्वास्थ्य देखभाल के लिए नये-नये उत्पादों को बाजार में उतारने का प्रयास करते हैं। आयुर डिफेंस-एवी में जड़ी-बूटियों का सह-क्रियात्मक प्रभाव शरीर को अपनी प्रतिरक्षा को मजबूत बनाने में सहायता करता है।”

जब विशेषरूप से यह प्रश्न पूछा गया कि क्या आयुर डिफेंस–एवी कोविड-19 वायरस के लिए भी प्रभावी है? श्री श्रीवास्तव ने आगे कहा, “कोविड-19 भी एक वायरस है और वातावरण में मौजूद दूसरे वायरसों की तरह इसे मारने के लिए भी कोई दवाई उपलब्ध नहीं है। हमारे शरीर की प्रतिरक्षा एकमात्र उपाय है कोविड-19 के प्रति प्रतिक्रिया देने के लिए जिस तरह से वह किसी अन्य वायरस से निपटता है। चूंकि आयुर डिफेंस-एवी, शरीर की प्रतिरक्षा और रक्षा तंत्र को मजबूत करता है, यह निश्चित रूप से वायरस से बहुत जल्द छुटकारा पाने में हमारे शरीर क्रिया विज्ञान के लिए सहायक होगा। यदि प्रारंभिक लक्षण जैसे गले में खराश, सिरदर्द, जकड़न आदि दिखाई देने पर इसे तुरंत लिया जाए तो यह वायरस के आगे प्रसार को रोकने में शरीर क्रिया विज्ञान की सहायता करेगा और कोई भी अधिक नुकसान के बिना संक्रमण से तेजी से छुटकारा पा सकता है।”

वायरल संक्रमण या फ्लु के साथ जब नाक बहना, गले में खराश, शरीर में दर्द, जकड़न, सिरदर्द, सांस लेने में तकलीफ के कारण उनींदापान, कमजोरी, सुस्ती और बहुत सारे अन्य लक्षण दिखाई देते हैं वो इस पर निर्भर करता है कि पीड़ित किस वायरस या रोगाणु से संक्रमित है। लक्षण अलग-अलग होते हैं और कभी-कभी अन्य स्वास्थ्य स्थितियों के आधार पर गंभीर या घातक भी हो सकते हैं।

महर्षि आयुर्वेद अस्पताल के मेडिकल सुप्रिंटेंडेंट डॉ. सौरभ शर्मा ने कहा, “हम वायरल संक्रमण के दौर से गुजर रहे हैं। आमतौर पर हम बैक्टीरिया के साथ-साथ वायरस से भी संक्रमित हो जाते हैं। हालांकि, बैक्टीरिया के संक्रमण के लिए कुछ एंटी-बायोटिक दवाईयां उपलब्ध हैं, लेकिन अन्य रोगाणुओं के लिए विशेष रूप से वायरस से होने वाले संक्रमणों में, एंटीबायोटिक दवाईयां काम नहीं करती हैं और न ही ऐसे वायरसों के लिए कोई दवा उपलब्ध है। आजकल जो लोग दवाओं के दुष्प्रभावों से चिंतित हैं, यह उत्पाद – आयुर डिफेंस–एवी उनके लिए अद्भुत कार्य करेगा।”

आयुर डिफेंस–एवी, 19 जड़ी-बूटियों से बना है, जो शरीर को वायरल संक्रमण और फ्लु जैसे लक्षणों; बुखार, नाक बहना, सांस लेने में कठिनाई होना, खांसी, सिरदर्द और जकड़न आदि से निपटने में सहायता करता है। इसमें जड़ी-बूटियों का सहक्रियात्मक प्रभाव भी शरीर को अपनी प्रतिरक्षा को मजबूत बनाने में सहायता करता है।

चूंकि आयुर डिफेंस-एवी प्रसिद्ध और अत्यधिक प्रभावी जड़ी-बूटियों जैसे तुलसी, कालीमिर्च (पिपर निगरूम), अदरक, लंबी मिर्च, जीरा, नद्यपान, बेल, गिलोय, सौंठ, पिप्पाली, मुलेठी और लहसुन आदि का संयोजन/मिश्रण है और इन जड़ी-बूटियों में बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण सहित किसी भी बाहरी स्वास्थ्य खतरों के विरूद्ध शरीर के सुरक्षा कवच को मजबूत करने की विशेषता है। जड़ी-बूटियों से बना यह उत्पाद ब्रोंकोडाईलेटर (श्वास मार्ग को डायलेट करने वाला पदार्थ), इम्यूनो-मॉड्युलेटर, एंटीमाइक्रोबियल, एंटी-एलर्जिक, एंटी-पायरेटिक, एनाल्जेसिक (पीड़ानाशक), एंटी-वायरल, एंटी-इन्फ्लेमैटरी (सूजन कम करने वाला पदार्थ) और एंटी-ट्युसिव (कासरोधक या खांसी रोकने वाला पदार्थ) के रूप में भी काम करता है।

यह दोष, अग्नि और धातु में संतुलन को बढ़ावा देता है। अमा (ठीक तरह से पच नहीं पाने वाली अशुद्धियों) को शरीर से बाहर निकालता है, जो सूक्ष्म-परिसंचारी चैनलों को अवरूद्ध कर सकता है। इस प्रकार से अमा कम हो जाता है और शरीर के अन्य भागों, विशेषरूप से श्वसन प्रणाली तक नहीं पहुंच पाता है, इसलिए शरीर में कमजोर बिंदुओं या स्थानों के निर्माण को रोकता है। यह माइक्रोबियल भार, बलगम के उत्पाद को संतुलित करने और प्रतिरक्षा के निर्माण में भी सहायता करता है। यह ओजस को भी बढ़ावा देता है, जो संतुलन को और बढ़ाता है, शरीर को शक्ति प्रदान करता है तथा प्रतिरक्षा को मजबूत बनाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here