कश्मीर सरकार ने आसिया अंद्राबी को बताया बेटियों का ‘रोल मॉडल’

0
324

Jammu News : जम्मू-कश्मीर सरकार के लिए उस समय शर्मनाक स्थिति पैदा हो गई जब जेल में बंद अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी की फोटो मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और कुछ अन्य हस्तियों के साथ ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान के पोस्टर पर लग गई।

पोस्टर का उद्देश्य उपलब्धियां हासिल करने वाली देश की महिलाओं को उजागर करना है जिसे दक्षिण कश्मीर के कोकरनाग इलाके में बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए आयोजित एक समारोह में लगाया गया था। अंद्राबी पाकिस्तान समर्थक ‘दुख्तरान ए मिल्लत’ संगठन की प्रमुख है, जिसकी तस्वीर मदर टेरेसा, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, महान गायिका लता मंगेशकर, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा और पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी के साथ लगी हुई है।

दोषी अधिकार सस्पेंड
मामले के तूल पकड़ने के बाद डीसी अनंतनाग ने मामले में दोषी अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है। इस बीच सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल होने के बाद अधिकारियों ने अनंतनाग जिले से आसिया अंद्राबी वाले पोस्टरों को हटा लिया है। वहीं, नौशेरा से बीजेपी विधायक रविंदर रैना ने पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

अंद्राबी के खिलाफ कई मामले दर्ज
अंद्राबी को अलगाववादी गतिविधियों के कारण वर्तमान में जन सुरक्षा अधिनियम के तहत जेल में बंद किया गया है। उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं जिनमें पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त और पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस 23 मार्च को पाकिस्तानी झंडा फहराना भी शामिल है।

फिलहाल, इस पर टिप्पणी के लिए किसी आधिकारिक प्रवक्ता या सरकार के किसी व्यक्ति से संपर्क नहीं हो सका। बता दें कि ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रमुख अभियानों में से एक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here