जैन समाज द्वारा महावीर का 2618वां जन्मदिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया

0
701

Faridabad News, 17 April 2019 : आचार्य री माहश्रमणी की विदुषी शिष्या शासन श्री जय प्रभारी ठाना के सांनिध्य में सफल जैन समाज के द्वारा महावीर का 2618वां जन्मदिवस हर्षोल्लास के साथ तेरापंथ भवन फरीदाबाद में मनाया गया। आ.श्री विशेष कृपा दृष्टि से साध्वी जी दिल्ली से चलकर फरीदाबाद पधारी। सूर्योदय के साथ ही विशाल रैली निकाली गयी। वह साध्वी जी के मंगल पाठ से सभा में परिणत हो गयी। महिला मण्डली की बहनो द्वारा महावीर आष्टक से कार्यक्रम का प्रांरभ किया गया। सोनल जैन ने भावपूर्ण गीतिरशा प्रस्तुत की। महिला मण्डल एवं सभा कि भाईयो ने सामूहिक संगान से महावीर प्रभु की स्तुति की। साध्वियो ने सामुुहिक गीतिका में बताया कि आज पूरे जैन समाज के लिए अमूल्य अवसर है। हम उनके सिद्धांतों पर चलकर जीवन को सफल बनाये। महिला मण्डल युवती बहिनो ने माता त्रिशाला को सामने प्रस्तुत करके 14 महास्व्प्रो की रोचक प्रस्तुति दी। मुख्वक्ता के सी जैन ने युग की समसयाओं से निजात पाने के लिए महावीर के सिद्धांतों को अपनाने पर बल दिया। साध्वी शशि स्वामी एवं रोहित प्रभावी ने शब्द चित्र के द्वारा साधना सिंद्धात एवं जीवन दर्शन प्रस्तुत किया। साध्वी श्री जयप्रभाणी ने मंगल उदबोधन में कविता कि मार्मिक दोपधो से महावीर के सिद्धांतो को प्रस्तुत किया। साध्वी श्री जयप्रभावी ने मंगल उदबोधन में कविताकि मार्मिक दोपधो से महावीर के सिद्धांतों को प्रस्तुत किया। सुनकर जनता मंत्र मुग्ध हो गयी। आपने बताया कि एक भी सिद्धांत यदि व्यक्ति अपना ले, उस पर चले तो जीवन की दिशा दशा बदल सकती है। समाज की समस्या का निश्चित समाघान होगा। भारत का ढांचा बदल जायेगा अपेक्षा उन पदचिन्हो पर चलने की।

प्रातकालिन अहिंसा रैली का भव्य कार्यक्रम जैन स्थानक सैक्टर 7 से प्रांरभ होकर तेरापंथ भवन सैक्टर 1० पर पहुंचने पर धर्म सभा में परिवर्तित हुई। रैली के माध्यम से भगवान महावीर के संदेशो को जनजन तक पहुंचाने का संदेश दिया गया और कोशिश की गयी। समारोह आयोजन में तेरपाथ सभा के कार्यक्रम संयोजक अध्यक्ष विजय नाहटा और पुरी टीम ने पुरा योगदान दिया। श्री मुकेश जैन को तथा संजवी बैद ने कुशल संचालन करके कार्यकम में रोचकता ला दी।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री विपुल गोयल ने अपने वक्तव्य में जोर देकर कहा कि भगवान महावीर ने पर्यावरण को बचाने की बात हजारो वर्ष पहले ही बता दी थी। हमें इस पर पूर्ण जागयकता से कार्य करने की अपेक्षा है। मानव सेवा ही समाज सेवा है तथा पर्यावरण सेवा ही संसार सेवा है। मुख्य वक्ता के सी जैन, ने जीव और अजीव इस संसार मुख्य धारक है। तथा भगवान महावीर ने इस पर काफी गहन चिन्तन हमें दिया तो आज समझते थे। कार्यक्रम के समारोह अध्यक्ष श्री राजकुमार जैन, टी एम लालानी ने भी भगवान महावीर जन्म कल्याणक पर हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित की। पूरे जैन समाज की और से अनेक संस्थाओ की विविध प्रस्तुति के माध्यम से भगवान महावीर के जीवन पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम में तेरापंथ समान के गणमान्य व्यक्ति , फरीदाबाद की अनेक सामाजिक संस्थाओ के पदाधिकारी, राष्टीय स्वयं सेवक संघ के प्रान्तीय अधिकारी किशन जी, दीपक अग्रवाल, गंगाशंकर उपस्थित रहे। राजस्थान एसोसिएशन, माहेश्वरी मण्डल, भारतीय योग संस्थान आदि अनेक संस्थाओ के गणमान्य महानुभव कार्यक्रम में शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here