इस्कॉन संस्था द्वारा डीएवी कालेज में मेगा इवेंट ‘उम्मीद’ का आयोजन किया गया

0
28

Faridabad News, 08 April 2019 : इस्कॉन संस्था द्वारा डीएवी कालेज, फरीदाबाद एन.आई.टी में एक मेगा इवेंट ‘ उम्मीद’ का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम फरीदाबाद और उसके आसपास के विभिन्न स्कूलों के छात्रों को सम्मानित करने के लिए आयोजित किया गया था, जिन्होंने वैदिक ओलंपियाड में भाग लिया था – भगवद् गीता की शिक्षाओं पर आधारित एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता।

यह प्रतियोगिता दिसंबर-जनवरी 2018-19 के महीने में आयोजित की गई थी। यह प्रतियोगिता संस्थापकाचर्य श्रील ए. सी. भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद की दृष्टि को ध्यान में रखते हुए आयोजित की गई थी, जो चाहते थे कि भगवद्गीता की शिक्षाएं पूरी दुनिया में फैले ताकि पूरी मानव जाति शांतिपूर्ण और खुशहाल हो सके।

मुख्य अतिथि विपुल गोयल (उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री) व गेस्ट ऑफ ऑनर मिस श्रेया चोपड़ा (मिस इंडिया 2017-18) ने विजेताओं को सम्मानित किया।

मनवी मिश्रा, सैफरॉन पब्लिक स्कूल सेक्टर 37 की और गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल, जाड़सेतली की सोनिया तिवारी ने प्रथम पुरस्कार हासिल किया; एक लैपटॉप।

पूजा दयाल सिंह गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल, तीगांव रोड और वी.एम.सीनियर सेकेंडरी स्कूल, की रोशानी सिंह ने दूसरा पुरस्कार जीता: एक टैबलेट, गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल एन.आई.टी. 5 के विशाल और गवर्नमेंट गर्ल्स हाई स्कूल एन.आई.टी की नूरजहाँ ने

तीसरा पुरस्कार जीता: एक साइकिल।
इस प्रतियोगिता में 18000 से अधिक छात्रों ने भाग लिया व भाग लेने वाले छात्रों की अधिकतम संख्या वाले स्कूलों को भी सम्मानित किया गया।

इस कार्यक्रम में एक बहुत ही अद्भुत नाटिका ‘खरपतवार’ प्रदर्शित की गयी। इस नाटिका में आज की युवा पीढ़ी की ड्रग्स में दिलचस्पी और इसके दुष्परिणाम को दिखाया गया था । नाटिका समाप्त होते ही श्रेया चोपड़ा मंच पर आयीं और उन्होंने कलाकारों को गले लगा लिया । वो बताने लगीं की किस तरह उनका व्यक्तिगत मित्र भी ड्रग्स की चपेट में आ गया है और फिर वो रो पड़ीं । उन्होंने कहा कि दो दिन पहले ही उन्होंने अपने मित्र को श्रीमद भगवद गीता की एक प्रति दी और उन्होंने ने कार्यक्रम में सम्मिलित सभी लोगों को कहा कि वे सब भी उसके लिए प्रार्थना करें।
इस्कॉन फरीदाबाद के गोपाल फन स्कूल द्वारा जिसमें कथक नृत्यांगना – सुश्री नयनिका चौधरी (शिष्य पद्म विभूषण बिरजू महाराज) द्वारा दशावतार का नृत्य व संगीत के माध्यम से नाट्य रूपांतरण प्रस्तुत किया गया।

रॉक शो में “हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे” की धुनों पर सभी के दिलों की धड़कनों को हिलाकर रख दिया।

श्री विपुल गोयल ने अपने भाषण में भगवद् गीता के उपदेशों को हर एक को अपने जीवन में अपनाने के लाभों के बारे में बताया। उन्होंने व्यक्त किया कि भगवद् गीता की शिक्षाएँ गैर संप्रदाय हैं और समाज के सभी वर्गों के लिए हैं। उन्होंने आगे कहा कि हम हरियाणा के निवासी बहुत भाग्यशाली हैं क्योंकि भगवद् गीता कुरुक्षेत्र में बोली गई थी। सरकार ने अब प्राथमिक कक्षाओं के बच्चों के लिए सरकारी स्कूलों में एक शैक्षणिक वर्ष के लिए इस पवित्र ग्रंथ का अध्ययन करना अनिवार्य कर दिया है।

इस समारोह को इस्कॉन मंदिर, ईस्ट ऑफ कैलाश, दिल्ली के प्रधान अध्यक्ष – श्री मोहन रूपा दास ने विशेष रूप से सराहना की, उन्होंने कहा कि भगवद् गीता में बहुत ही वैज्ञानिक ज्ञान है, जो इस आधुनिक समय में बहुत प्रासंगिक है, जबकि यह 5000 साल पहले बोली गई थी। हम सभी अपने प्रयासों में सफल हो सकते हैं, अगर हम भगवत गीता में दी गई शिक्षाओं का पालन करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here