ऑनलाइन मनाया अंतर्राष्ट्रीय अध्यापक दिवस

0
188

Faridabad News, 05 Oct 2020 : राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन एच तीन फरीदाबाद की सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड, जूनियर रेडक्रॉस और गाइडस ने प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा की अध्यक्षता में ऑनलाइन विश्व अध्यापक दिवस मनाया गया। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा और कॉर्डिनेटर प्राध्यापिका जसनीत कौर एवम् छात्राओं तनु, अंशिका, ताबिंदा तथा वंशिका की कार्यक्रम में सक्रिय भूमिका रही। ब्रिगेड अधिकारी, जूनियर रेडक्रॉस काउन्सलर तथा प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय अध्यापक दिवस प्रत्येक वर्ष 5 अक्टूबर को मनाया जाता है। शिक्षकों की भूमिका, शिक्षा व शिक्षकों की स्थिति में सुधार के उद्देश्य से विश्व शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष वैश्विक कोरोना महामारी की वजह से विश्व शिक्षक दिवस ऑनलाइन मनाया जा रहा है। विश्व भर में इस दिन को मनाने के लिए ऑनलाइन सेमीनारों का आयोजन हो रहा है।

विश्व शिक्षक दिवस 2020 की थीम “शिक्षक – संकट में लीड करना, भविष्य को फिर से परिभाषित करना” है, जिसका उद्देश्य शिक्षकों द्वारा कोविड – 19 महामारी के दौरान निभाई जाने वाली भूमिका को संबोधित करना है। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि इस दिन यूनेस्को की सिफारिशों को 1966 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा स्वीकारने के बाद 1994 में पहली बार विश्व शिक्षक दिवस मनाया गया। यूनेस्को की सिफारिशों में शिक्षकों के अधिकारों और उनकी जिम्मेदारियों के बारे में उल्लेख करने के साथ-साथ उनकी प्रारंभिक तैयारी और आगे की शिक्षा, भर्ती, रोजगार, शिक्षण तथा अधिगम की स्थिति और शर्तें निर्धारित की गई थीं। विश्व शिक्षक दिवस के दिन शिक्षकों को उनके कार्यों के लिए सम्मानित किया जाता है। इस दिन स्टूडेंट्स अपने-अपने तरीके से शिक्षकों के प्रति प्यार और सम्मान प्रकट करते हैं। हमारे देश में 1962 से 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जा रहा है। शिक्षक दिवस पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती के मौके पर मनाया जाता है। इस दिन आध्यापकों को सामान्य रूप से और कतिपय कार्यरत एवं सेवानिवृत्त शिक्षकों को उनके विशेष योगदान के लिये सम्मानित किया जाता है। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि इस वर्ष विश्व शिक्षक दिवस 2020 की थीम टीचर्स – लीडिंग इन क्राइसिस, रीइमेजनिंग द फ्यूचर यह दर्शाती है कि अध्यापक का कार्य बहुत ही चुनौतीपूर्ण है जिसे समर्पण, सत्यनिष्ठा, कर्त्तव्यपरायणता और ईमानदारी से निभा कर ही समाज और देश को नवीनतम उन्नति के शिखर पर आरूढ़ किया जा सकता है। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए गणित प्राध्यापिका डॉक्टर जसनीत कौर एवम् छात्राओं तनु, अंशिका, ताबिंदा तथा वंशिका एवम् सभी अध्यापकों का आभार व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here