शिक्षा के मंदिर में भी सुरक्षित नहीं लड़कियां, शिक्षक ने की शर्मनाक हरकत

0
441

Palwal News : पलवल से गुरू और शिष्य के पवित्र रिस्ते को कलंकित करने का एक मामला सामने आया है। यहां के गांव लहरपुर के राजकीय उच्च विद्यालय में एक स्कूल के मुख्य शिक्षक समयपाल सिंह ने 10वीं कक्षा की छात्रा के साथ छेड़छाड़ की। छात्रा के परिजनों ने शिक्षक को पुलिस के हवाले करके उसके खिलाफ शिकायत दर्ज की। थाने में मौजूद लोगों और पंचायत ने छात्रा के परिजनों पर राजीनामे करने का दबाव बनाया। पंचायत ने थाने में आरोपी शिक्षक को पांच जूते मारकर राजीनामा कराया।

बाहर तो बाहर अब प्रदेश के सरकारी स्कूलों में भी लड़कियां सुरक्षित नही है। लहरपुर गांव में स्कूल की एक नाबालिग 10वीं कक्षा की छात्रा को शिक्षक ने जबरदस्ती कमरे में बंद किया। उसके बाद उसे अपने मोबाइल से अश्लील वीड़ियो दिखाई और गलत हरकतें करते हुए नाचने को कहा। छात्रा ने जब मना किया तो उसे फेल करने की धमकी दी। जबरदस्ती उससे डांस कराया और फोन पर उसकी विडियो बनाने लगा।

कुछ देर सहन करने के बाद छात्रा ने शोर मचाना शुरू कर दिया। शोर सुनकर स्कूल के बच्चे एकत्रित हो गए। दरवाजा बंद होने पर बच्चों ने भी शोर मचाना शुरू कर दिया। बच्चों का इतना अधिक शोर सुनकर गांव के लोग स्कूल में आ गए। उन्होंने कमरे का दरवाजा खुलवाकर छात्रा की आपबीती सुनी और शिक्षक की जमकर धुनाई की। लोगों ने हसनपुर पुलिस को मौके पर बुलाकर उसे उनके हवाले कर दिया। पुलिस ने गांव के सरपंच को थाने में बुलाया। लोगों ने इस मामले को सामाजिकता से निपटाने के लिए पुलिस पर दबाव बनाया। थाने में ही आरोपी शिक्षक को पांच जूते मारकर छोड़ दिया। परिजनों का आरोप है कि उन पर जबरदस्ती दबाव बनाकर राजीनामा लिखवाया गया है।

पीड़ित छात्रा के परिजनों की मांग है कि आरोपी शिक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया जाए।उन्होंने कहा कि वह गरीब हैं इसलिए जूते मारकर फैसला करा दिया है और वह इससे खुश नहीं है। वो इस मामले को लेकर उच्च अधिकारियों व मुख्यमंत्री से मिलेंगे। इस पर डीएसपी मौजीराम ने कहा कि उन लोगों ने राजीनामा लिखित में दिया है जिसकी वजह से उन्होंने कोई कारवाई नहीं की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here