यूनियन व नगर निगम आयुक्त के बीच बैठक के बाद धरना समाप्त

0
629

Faridabad News, 09 April 2019 : नगर निगम सीवरमैन यूनियन के तत्वाधान में सीवरमैन कर्मचारियों द्वारा निगम मुख्यालय पर 28 मार्च से दिये जा रहे धरने को आज यूनियन व नगर निगम आयुक्त के बीच बैठक के बाद समाप्त कर दिया। गौरतलब है कि नगर निगम सीवरमैन कर्मचारियों ने अपनी मांगों का समाधान करवाने के लिए व 28 मार्च को इन्द्राज सीवरमैन कर्मचारी को जबरन ठेकेदार व वार्ड नम्बर-9 के पार्षद महेेन्द्र सरपंच के पुत्र ने सीवर के गड्डे में उतार दिया। जिससे सीवरमैन इन्द्राज को गैस लग गई और वो गंभीर रूप से घायल हो गया। गड्डे में कर्मचारी को उतारने वाले दोषियों पर मुकदमा दर्ज करने व अपनी मांगों का समाधान करवाने के लिए 28 मार्च से लगातार सीवरमैन कर्मचारी निगम कार्यालय पर धरना दिये हुए थे, लेकिन आज नगर निगम आयुक्त के बुलावे पर यूनियन व प्रशासन के बीच वार्ता हुई। वार्ता में नगर निगम की ओर से आयुक्त अनीता यादव, चीफ इंजीनियर डीआर भास्कर, एक्सईएन धर्म सिंह नरवत, विरेन्द्र कर्दम, ओमबीर, रवि शर्मा, रामप्रकाश, वित्तीय नियंत्रक सतीश शर्मा व स्थापना अधिकारी विकास कन्हैया उपस्थित थे तथा संघ की ओर से नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के प्रदेश सचिव सुनील कुमार चिण्डालिया, जिला सचिव नानकचंद खैरालिया, सीवरमैन यूनियन के प्रधान सुभाष फेंटमार, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, सीवरमैन यूनियन के सचिव विनोद घरौंड़ा, कोषाध्यक्ष प्रदीप चावरिया, अमरचंद, प्रमोद कुमार, दिनेश कुमार, गुलाब चिण्डालिया, सतपाल मेंढवाल, राजू सारसर, मुकेश ठेकेदार आदि उपस्थित थे।

नेताओंं ने बैठक में निगमायुक्त अनीता यादव के समक्ष अपनी प्रमुख मांग रखी। जिस पर निगमायुक्त ने सभी को मान लिया। क्षेत्रफल एवं आबादी के अनुपात में सीवरमैनों की पार्ट-एक में भर्ती की जायेगी। 40 वार्डों में 40 हैड सीवरमैन बनाये जाएगें। सीवरमैनों को 1000 रूपया, सफाई भत्ता दिया जायेगा। हैल्थ विभाग की तर्ज पर सीवरमैनों को जीआईसी की सुविधा दी जायेगी। सीवरमैन कर्मचारियों को 50-50 गज के प्लाट दिये जाएगें। सीवरमैन कर्मचारियों की ड्यूटी पांच घंटे की होगी। सभी सीवरमैन कर्मचारियों को सेफ्टी उपकरण गैस मास्क, गैस किट, सेफ्टी बेल्ट, तीनों जोनों में तीन एम्बुलैंस किट के साथ सुविधा दी जायेगी। काई भी कर्मचारी सीवर के गड्डे में उतरकर हरगिज काम नहीं करेगा। अगर कोई ठेकेदर व अधिकारी जबरन सीवर चैम्बर में उतारता है तो उसके खिलाफ कानून कार्यवाही की जायेगी। गैस लगने से घायल हुए इन्द्राज सीवरमैन के दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही होगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here