ड्रूम ने इको प्लेटफार्म का लाभ उठाने लॉकडाउन के बाद के लिएटेक-इनेबल्ड डोरस्टेप व्हीकल सर्विस जम्पस्टार्ट लॉन्च की

0
66

New Delhi, 06 May 2020 : बहुत से वाहन ज्यादा देर तक खड़े रहने पर शुरू होने या मूव करने में भी समस्या पैदा करते हैं। क्यों? डेड बैटरी, फ्यूल पंप लीक, इग्निशन इश्यू, फ्लैट टायर आदि। चूंकि, देशभर में लॉकडाउन की अवधि में विस्तार के कारण भारत में ज्यादातर वाहन 40 दिनों से अधिक समय तक गैरेज में पार्क हैं, इसलिए मालिकों के लिए इन्हें शुरू करना एक चुनौतीपूर्ण कार्य बन गया है। इस समस्या को हल करने के लिए भारत के सबसे बड़े और अग्रणी ऑनलाइन ऑटोमोबाइल लेन-देन मार्केटप्लेस डूम ने पूरे भारत में ग्राहकों के लिए उनके घर पर एक अनूठी सेवा जम्पस्टार्ट – ऑटोकेयर लॉन्च की है। इस सेवा में टायरों का रखरखाव, महत्वपूर्ण कार्यों की जांच और ऑयल व ल्यूब्रिकंट टॉप-अप के साथ-साथ वाहन का जम्पस्टार्ट शामिल है।

मुख्य जंप स्टार्ट डिवाइस पैकेज के अलावा यूजर टोइंग, गैस फिल, फ्लैट टायर की मरम्मत, प्रेशर वॉटर क्लीनिंग और ऑयल, ल्यूब्रिक्रंट, कूलंट आदि की टॉप-अप सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं।

यूजर्स वाहन, लोकेशन, मेन सर्विस और इस प्रक्रिया में किसी भी एड-ऑन सेवाओं को चुन सकते हैं। वे अपनी सुविधा के अनुसार टाइम स्लॉट चुन सकते हैं और भुगतान की पुष्टि कर सकते हैं या बाद में भुगतान कर सकते हैं। इसके बाद ड्रूम इस काम को करने एक ‘इको-निंजा’ या तकनीशियन नियुक्त करता है, जो सर्विसिंग प्रक्रिया पूरी होने के बाद संबंधित ग्राहक को इको जम्प स्टार्ट रिपोर्ट देता है। ग्राहक तकनीशियन को मौके पर अपने मौजूदा पैकेज में जोड़कर किसी भी अतिरिक्त सेवाओं को करने को भी कह सकता है।

इस लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए ड्रूम के संस्थापक और सीईओ संदीप अग्रवाल ने कहा, “लॉकडाउन की अवधि बढ़ने के मद्देनजर एक अनुमान के मुताबिक भारत में करीब 5 से 25 मिलियन वाहन शुरू होने में या मूव करेन में दिक्कत दे सकते हैं। इको ने 2016 के बाद से वाहनों के प्रमाणन, बड़ी संख्या में ऑटोमोबाइल वाहनों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए जांचों के साथ ही हाल ही में पेश स्पेशल जर्म शील्ड सेवा के जरिये एंटीमाइक्रोबियल ट्रीटमेंट पेश करने तक लंबा सफर तय किया है। हम आईओटी, एआई, क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर का लाभ उठाते हैं, स्टैंडर्ड सेवाएं देने के लिए पूरी तरह से मोबाइल टेक्नोलॉजी से चलने वाले वर्क-फ्लो मैनेजमेंट के लिए फील्ड ऑपरेशन के लिए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here