सीएलपी इंडिया ने खेलों को बढ़ावा देकर हरियाणा की स्थानीय प्रतिभाओं को दी मज़बूती

0
916

Jhajjar News, 07 March 2019 : सीएलपी इंडिया की सहायक इकाई झज्जर पावर लिमिटेड (जेपीएल) अपने विभिन्न प्रयासों के माध्यम से हरियाणा में खेलों की प्रतिभा को बढ़ावा दे रही है। ऐसे ही एक प्रयास के अंतर्गत कंपनी ने जाने-माने कृष्ण अखाड़ा और ग्राम पंचायत खानपुर खुर्द के तीसरे वार्षिक कुश्ती प्रतिस्पर्धा का समर्थन किया। पारंपरिक कुश्ती प्रतिस्पर्धा (दंगल) का आयोजन गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल, खानपुर खुर्द के परिसर में किया गया और इसमें पूरे हरियाणा से 300 से अधिक पुरुष एवं महिला पहलवानों ने हिस्सा लिया। इस मुकाबले में पूरे राज्य के दर्शकों ने भी भरपूर दिलचस्पी ली। लगभग 2000 लोगों ने प्रतिभागियों का उत्साह बढ़ाने के लिए मुकाबले में हिस्सा लिया।

कल की प्रतियोगिता का सबसे बड़ी पुरस्कार राशि 31,000 की दो कुश्ती कराई गयीं। इन दो कुश्तियों में भोला सांगवान और उमेश कुंतल विजेत रहे। वहीँ दूसरी श्रेणी, पुरस्कार राशि 21,000 के विजेता मोहित मलिक रहे।

डॉ प्रियेश मोदी,प्रमुख , सीएसआरए सीएलपी इंडिया ने कहा, पिछले तीन वर्षों से सीएलपी इंडिया हरियाणा में युवा प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के लिए इस टूर्नामेंट को समर्थन देती आ रही है। हमने हरियाणा की संस्कृति में कुश्ती की भूमिका को बखूबी समझा है। यही कारण है कि हमने उभरती प्रतिभाओं के प्रशिक्षण के लिए अपनी अकादमी स्थापित की और हम इस बात को लेकर गौरवान्वित हैं कि इस अकादमी के छात्रों ने राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर कई पुरस्कार जीते हैं। हम छात्रों को शुभकामनाएं देते हैं और भविष्य में भी विभिन्न प्रयासों के माध्यम से राज्य की खेल-कूद प्रतिभाओं को बढ़ावा देते रहेंगे।

सीएलपी इंडिया ऐसी परियोजनाओं या कार्यक्रमों का समर्थन करती है जो स्थानीय समुदायों की आशाओं और आवश्यकताओं को पूरा करते हैं और प्रचलित संस्कृतियों, परंपराओं और मूल्यों के प्रति संवेदनशील हैं। उल्लेखनीय है कि कुश्ती हरियाणा की संस्कृति का एकीकृत हिस्सा है और सीएलपी इंडिया राज्य में युवाओं एवं समुदायों को सशक्त बनाने के लिए खेल के प्रति उनके लगाव को माध्यम बना रही है।

सीएलपी इंडिया ने स्थानीय खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने की व्यापक संभावना को महसूस किया है। इसके मद्देनजऱ, सीएलपी इंडिया ने 2015 में गांव खानपुर खुर्द में एक कुश्ती अकादमी तथा 2016 में गांव झामरी में एक बास्केटबॉल अकादमी स्थापित की। इन अकादमियों में राष्ट्रीय खेल संस्थान (एनआईएस) द्वारा प्रमाणित प्रशिक्षकों के माध्यम से करीब 170 लड़कों और लड़कियों को नि:शुल्क प्रशिक्षण मुहैया कराया जाता है। इन अकादमियों में बुनियादी ढांचा और माहौल मुहैया कराकर लड़कियों के बीच प्रतिभा विकसित करने के लिए ज़ोर दिया जाता है। सीएलपी इंडिया की बास्केटबॉल अकादमी के कुछ छात्रों का खेल श्रेणी में भारतीय सेना में चयन भी हुआ है। सीएलपी इंडिया खेल छात्रवृत्ति योजना का संचालन भी करती है जिसकी शुरुआत 2018 में की गई थी। सीएलपी इंडिया की अकादमियों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाडिय़ों को छात्रवृत्तियों के रूप में नकद पुरस्कार दिया जाता है ताकि उनकी प्रतिभा और प्रशिक्षण को समर्थन दिया जा सके।

नेहा, कृष्णा अखाडे की प्रशिक्षु, ने कहाए मैं खानपुर खुर्द अकादमी के प्रति आभार व्यक्त करती हूं जिसने मुझे अपने जोश को जारी रखने और कुश्ती के कॅरियर को संवारने में मदद की है। उनके समर्थन के चलते मैं अनेक जिलाए राज्य और राष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंटों में अपने राज्य का प्रतिनिधित्व करने में सक्षम बनी हूँ। बैंकॉक में एसियन कैडेट रैसलिंग टूर्नामेंट में कांस्य पदक जीतने पर बेहतर प्रदर्शन करने का मेरा आत्मविश्वास बढ़ा है और मैं सफलता की राह पर आगे बढऩा जारी रखूंगी। मैं खेलकूद छात्रवृत्ति तथा निरंतर समर्थन के लिए सीएलपी इंडिया की आभारी हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here