एनएसयूआई के जिलाउपाध्यक्ष विकास फागना ने फूंका अमित शाहका पुतला 

0
151

Faridabad News, 16 Dec 2019 : एनएसयूआई के जिलाउपाध्यक्ष विकास फागना नेकार्यकर्ताओ के साथ जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में छात्रों के साथ हुई मारपीट के विरोध में गृह मंत्री अमित शाह का पुतला फूंका। छात्र ने जमकर भाजपा सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाए। इस अवसर पर विकास फागना ने छात्रों पर हुए हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहाकि छात्रों पर लाठी चार्ज कराना कोई अच्छा कार्य नहीं। उन्होंने छात्रों की बर्बरतापूर्वक पिटाई का विरोध करते हुए कहाकि पीएम नरेंद्र मोदी क्यों चुप्पी साधे बैठे है वह केवल चुनावी प्रचार में ही व्यस्त हैं। विकास फागना ने  कहाकि ‘नौजवानों पर बर्बरतापूर्वक हमले हो रहे हैं। जेएनयू, हैदराबाद, वाराणसी, इलाहाबाद, अलीगढ़ के बाद जामिया इसका जीता जगता उदाहरण है। लाइब्रेरी में घुसकर आंसू गैस और यहां तक कि गोलियां भी चलाई गई। दिल्ली की कानून व्यवस्था केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है।पुलिस बिना किसी अनुमति के अंदर घुस गई।विरोध करना असंवैधानिक अधिकार है। विरोध करने वालों को देशद्रोही और पाकिस्तानी बता दिया जाता है। विकास फागना ने कहाकि यह सरकार बार-बार यूनिवर्सिटी को राजनीतिक अखाड़ा बना रही है। हिंसा का समाधान प्रतिहिंसा से कभी नहीं हो सकता है। उन्होंने बताया कि हिंसा के चलते जामियाका कॉलेज की छात्रा हॉस्टल छोड़ छोड़ कर जाने पर मजबूर है। उन्होंने कहाकि आज आलम यह है कि अगर छात्र अपने हित की आवाज़ उठाता है तो उस पर लाठी चार्ज करवा दिया जाता है। फ़र्ज़ी डिग्री वालों की सरकार ने पिछले पाँच साल से देश के विद्यार्थियों के ख़िलाफ़ जंग छेड़ी हुई है। लेकिन ये भूल रहे हैं कि भारत के युवाओं की रगों में गाँधी, अम्बेडकर, अश्फ़ाक और भगत सिंह का ख़ून है। ये लाठियों, गोलियों और झूठे दुष्प्रचार से डरकर अन्याय के ख़िलाफ़ आवाज उठाना बंद नहीं करेंगे। एनएसयूआई नेहरू कॉलेज के प्रधान सन्नी बादल व छात्र नेता पुनीत शर्मा ने कहाकि जब से भाजपा सत्ता में आई है, तब से यह सरकार इस देश के  लोगों को हिन्दू-मुस्लिम में बांटने पर तुली है। कांग्रेस की  सरकार ने 60 साल में देश में अमन, मोहोब्बत का माहौल कायम किया था आज भाजपा सरकार उसमें नफरत का जहर घोल रही है। इस मौके पर गौरव फागना, सौरव देसवाल, लोकेश, जतिन शर्मा, विशाल, अरुण सिंह, आकाश, हर्ष, सोनू, साहिल, अवदेश,राहुल,अजय सेकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here